एक छोटी सी गलती से हैक हो सकता है आपका स्मार्टफोन, ऐसे करें सुरक्षित

नई दिल्ली । समार्टफोन यूजर्स के बढ़ते हुए तादाद और इंटरनेट के इस्तेमाल की वजह से फोन हैक होने की घटना बढ़ती जा रही है। लोग स्मार्टफोन का इस्तेमाल केवल बात करने या फिर सोशल मीडिया पर चैट करने के लिए ही नहीं करते हैं, आजकल स्मार्टफोन लोगों की जरूरत बनती जा रही है। लोग
 
एक छोटी सी गलती से हैक हो सकता है आपका स्मार्टफोन, ऐसे करें सुरक्षित

नई दिल्ली । समार्टफोन यूजर्स के बढ़ते हुए तादाद और इंटरनेट के इस्तेमाल की वजह से फोन हैक होने की घटना बढ़ती जा रही है। लोग स्मार्टफोन का इस्तेमाल केवल बात करने या फिर सोशल मीडिया पर चैट करने के लिए ही नहीं करते हैं, आजकल स्मार्टफोन लोगों की जरूरत बनती जा रही है। लोग अपने बैंकिग, ऑनलाइन पेमेंट,

लॉकडाउन में भी लोग अब ज्यादा खरीदारी आदि भी स्मार्टफोन से करने लगे हैं। ऐसे में स्मार्टफोन का हैक होना या जानकारी लीक होना यूजर्स के लिए परेशानी पैदा कर सकती है.

हमने इसके लिए टेक एक्सपर्ट से बात की तो उन्होंने कहा, ”जब भी आप कोई एप अपने स्मार्टफोन में इंस्टॉल करते हैं तो पहले चेक कर लें कि वो एप गूगल प्ले स्टोर पर वेरिफाइड हैं कि नहीं। इसके अलावा आप थर्ड पार्टी एप अपने स्मार्टफोन में इंस्टॉल न करें। साथ ही किसी एप को गैर-जरूरी परमिशन न दें, क्योंकि अगर आप किसी एप को गैर-जरूरी परमिशन देते हैं तो ये आपके लोकेशन, कॉन्टैक्ट्स, आपकी रूचि, फोटो आदि की जानकारी इकठ्ठा कर लेते हैं, जिससे आपकी निजी जानकारी हैकर्स के पास जाने का खतरा बना रहता है!

गूगल प्ले प्रोटेक्ट सर्विस को इनेबल करने के लिए फॉलो करें ये स्टेप्स

स्टेप-1: सबसे पहले अपने स्मार्टफोन में सेटिंग्स आइकन पर टैप करें।

स्टेप-2: स्क्रॉल करने के बाद यहां आपको मोर सेटिंग्स आइकन दिखाई देगा, उसपर टैप करें।

स्टेप-3: यहां आपको स्कियोरिटी ऑप्शन दिखाई देगा, अब आप यहां टैप करें।

स्टेप-4: स्कियोरिटी पर टैप करते हुए सबसे ऊपर आपको गूगल प्ले प्रोटेक्ट ऑप्शन दिखाई देगा, उसपर टैप करें।

स्टेप-5: यहां आपको स्कैन डिवाइस फॉर सिक्योरिटी थ्रेट्स और इंप्रूव हार्मफुल एप डिटेक्शन ऑप्शन दिखाई देगा।

स्टेप-6: इसे इनेबल करते ही आपके डिवाइस की स्कियोरिटी बढ़ जाती है और इन वायरस के अटैक का खतरा कम हो जाता है।

From Around the web