यह भारतीय ऐप सरकार के रूप में लाभान्वित है, क्या आप भी इस्तेमाल करते हो?

टिक टोक बैन के बाद देसी सोशल एप चिंगारी को काफी फायदा हो रहा है। चिनगरी ऐप, जिसे द टिक टोक बैन के बाद पेश किया गया था, को अब तक 30 मिलियन से अधिक बार डाउनलोड किया गया है। प्रधानमंत्री मोदी की ओर से मन की बात कार्यक्रम में चिंगारी ऐप्स का भी उल्लेख
 
यह भारतीय ऐप सरकार के रूप में लाभान्वित है, क्या आप भी इस्तेमाल करते हो?

टिक टोक बैन के बाद देसी सोशल एप चिंगारी को काफी फायदा हो रहा है। चिनगरी ऐप, जिसे द टिक टोक बैन के बाद पेश किया गया था, को अब तक 30 मिलियन से अधिक बार डाउनलोड किया गया है। प्रधानमंत्री मोदी की ओर से मन की बात कार्यक्रम में चिंगारी ऐप्स का भी उल्लेख किया गया है। चिंगारी ऐप केंद्र सरकार के ऐप इनोवेशन चैलेंज का चैंपियन रहा है। इसके साथ ही, प्रधानमंत्री को इन देसी एप्स का उपयोग करने की सलाह भी दी गई।

यह भारतीय ऐप सरकार के रूप में लाभान्वित है, क्या आप भी इस्तेमाल करते हो?

आपको बता दें कि टिक टोक के प्रतिबंध के बाद चिंगारी ऐप को काफी लोकप्रियता मिली। केवल 24 घंटे के टिक टोक प्रतिबंध के दौरान ऐप को 35 लाख से अधिक बार डाउनलोड किया गया था। उसी चिंगारी ऐप ने अब संवर्धित वास्तविकता (एआर) फिल्टर पेश किया है, जो ऐप का उपयोग करने वाले युवाओं को अधिक रचनात्मक स्वतंत्रता देगा। चिंगारी ऐप के नए AR फ़िल्टर का उपयोग उपभोक्ताओं द्वारा मोबाइल रियर और बैक कैमरों के माध्यम से भी किया जाएगा।

सरकार के ऐप का उपयोग करने में उपभोक्ता पहले से अधिक आनंद लेने वाला है। 18 से 35 वर्ष की आयु के युवा, चिंगारी ऐप का उपयोग करने में शामिल होते हैं। चिंगारी ऐप को हैदराबाद में लगभग 5.6 मिलियन बार डाउनलोड किया गया था। ऐप हिंदी, बंगला, गुजराती, मराठी, कन्नड़, पंजाबी, मलयालम, तमिल, उड़िया और तेलुगु, अंग्रेजी भाषा में उपलब्ध है। प्राप्त रिपोर्ट के अनुसार, चिंगारी ऐप को न केवल देश में पसंद किया जा रहा है, बल्कि अमेरिका, सिंगापुर, वियतनाम, सऊदी अरब, यूएई और कुवैत सहित अन्य देशों में बड़ी संख्या में चिंगारी ऐप डाउनलोड किए जा रहे हैं। वहीं, देसी ऐप का इस्तेमाल बड़ी संख्या में किया जा रहा है।

From Around the web