आपको कैसे पता चलेगा कि आपका फोन हैक हो गया है? इस तरह करें बचाव

तकनीक के विकास के कई दुष्प्रभाव भी हो रहे हैं। कंप्यूटर के साथ-साथ फोन भी हैक किए जा रहे हैं। कुछ हैकर आपके फोन में सेंध लगा सकते हैं और आपकी महत्वपूर्ण जानकारी चुरा सकते हैं। लेकिन, इसके लिए आपको सबसे पहले यह जानना होगा कि आपका फोन हैक हुआ है या नहीं। अगर आपका
 
आपको कैसे पता चलेगा कि आपका फोन हैक हो गया है? इस तरह करें बचाव

तकनीक के विकास के कई दुष्प्रभाव भी हो रहे हैं। कंप्यूटर के साथ-साथ फोन भी हैक किए जा रहे हैं। कुछ हैकर आपके फोन में सेंध लगा सकते हैं और आपकी महत्वपूर्ण जानकारी चुरा सकते हैं। लेकिन, इसके लिए आपको सबसे पहले यह जानना होगा कि आपका फोन हैक हुआ है या नहीं।

अगर आपका फोन हैक हो गया है, तो आपको कुछ बदलाव नजर आ सकते हैं। इससे हम हैकिंग का अंदाजा लगा सकते हैं। इसका सबसे बड़ा संकेत यह है कि आपके पैकेट डेटा का अधिक उपयोग किया जाता है। अगर कोई हैकर आपके फोन में दुर्भावनापूर्ण सर्वर डालता है, तो वह सर्वर मैलवेयर डाउनलोड करता रहता है और खुद को अपडेट रखता है। तो आपके डेटा का बहुत ज्यादा इस्तेमाल होता है।

आपके फोन की बैटरी भी अचानक खत्म हो जाती है। मैलवेयर वाले कई ऐप अक्सर बैकग्राउंड में चलते हैं। तो आपकी बैटरी बहुत जल्दी खत्म हो जाती है और आपको फोन को बार-बार चार्ज करना पड़ता है या यह बार-बार रीस्टार्ट होता है।

आपके फोन की ओवरऑल परफॉर्मेंस भी कम होने लगती है। अगर आपके फोन में बिना डाउनलोड किए कई ऐप इंस्टॉल हो रहे हैं, तो आपको समय रहते सावधान रहने की जरूरत है। अपने दैनिक एप्लिकेशन को हैंग करना, अचानक फ़ोन पर विज्ञापन पॉप अप करना, यह भी संकेत हो सकता है कि फ़ोन हैक हो गया है।

अगर इनमें से कई चीजें आपके फोन में दिखाई दें तो तुरंत उचित कार्रवाई करें। सबसे पहले अपने फोन को फैक्ट्री रीसेट मोड में रखें। साथ ही अपना बैंकिंग पासवर्ड, ईमेल और अन्य अकाउंट पासवर्ड तुरंत बदलें।

हैकिंग से बचने के लिए कुछ नियमों का पालन करें। ऐप स्टोर से कोई भी ऐप डाउनलोड करें। किसी भी अपरिचित लिंक या वेबसाइट को न खोलें और न ही ऐप्स इंस्टॉल करें। पब्लिक वाईफाई का इस्तेमाल करते समय सावधान रहें। साथ ही जरूरत पड़ने पर फोन में किसी अच्छे एंटीवायरस का इस्तेमाल करें।

From Around the web