मुहासों से है परेशान, तुरंत करें यह उपाय

हॉर्मोनलचेंज पॉल्युशन, धूप, मौसम बदलने या सही डाइट न लेने के कारण मुहासों की प्रॉब्लम होने लगती है. यह प्रॉब्लम तब और बढ़ जाती है जब हम दिनभर में कुछ गलत आदतों को फॉलो करते है। मुहासे होने के कारण:- ज्यादा मीठा खाना – डाइट में ज्यादा मीठी चीजें शामिल करने से मुहासे की प्रॉब्लम
 
मुहासों से है परेशान, तुरंत करें यह उपाय

हॉर्मोनलचेंज पॉल्युशन, धूप, मौसम बदलने या सही डाइट न लेने के कारण मुहासों की प्रॉब्लम होने लगती है. यह प्रॉब्लम तब और बढ़ जाती है जब हम दिनभर में कुछ गलत आदतों को फॉलो करते है।

मुहासे होने के कारण:-

ज्यादा मीठा खाना – डाइट में ज्यादा मीठी चीजें शामिल करने से मुहासे की प्रॉब्लम हो सकती है।

मसालेदार खाना – ज्यादा मिर्च-मसालेदार खाने से स्किन में इरिटेशन होने लगता है. इससे मुहासे की प्रोब्लम हो सकती है।

केमिकल वाले प्रोडक्टस – रेगुलर केमिकल वाले प्रोडक्टस का यूज करने से स्किन पर एलर्जी या इन्फेक्शन होने लगता है. ऐसे में मुहासे हो सकते है।

आनुवंशिकी – कभी-कभी आनुवंशिकी रूप से गंभीर मुँहासे परिवारों में होती है।

फूड्स – तेल के भोजन, जंक फूड और मिठाई मुँहासे का कारण नहीं है, लेकिन वे समग्र स्वास्थ्य को प्रभावित कर सकते हैं और शरीर को संक्रमण और बीमारियों के प्रति अधिक संवेदनशील बना सकते हैं।

तनाव – तनाव शरीर में हार्मोनल असंतुलन पैदा कर सकता है, लेकिन यह मुँहासे का सीधा कारण नहीं माना जाता है। तनाव या चिंता का इलाज करने वाली कुछ दवाएं मुँहासे के विकास में योगदान कर सकती हैं।

गंदगी – हालांकि यह कहना ज़्यादा बड़ा होगा कि गंदगी या मुँहासे के लिए स्वच्छता की कमी ज़िम्मेदार होती है, तब सूजन तब होती है जब मृत त्वचा कोशिकाओं को गंदगी और बैक्टीरिया से मिला होता है।

दवाएं – कुछ दवाओं का सेवन एक मुँहासे का प्रकोप पैदा कर सकता है या मौजूदा मुँहासे बढ़ सकता है।

मुहासों के लिए उपाय-

मुँहासे के लिए कुछ लोकप्रिय प्राकृतिक उपचारों में शामिल हैं:

नींबू का रस- कई अध्ययनों से पता चलता है कि नींबू का रस कुछ जीवाणुओं के विकास को रोक सकता है। नींबू का रस प्रकृति में एंटी बैक्टीरिया है और इसलिए मुँह के लिए एक आदर्श उपचार है। आप नींबू के रस और पानी गुलाब बारबर मात्रा में लेकर और उस मिश्रण को प्रभावित क्षेत्रों पर लगाए। इस उपचार को तीन से चार सप्ताह तक दोहराएं जब तक कि मुँहासे गायब न हो जाए।

ककड़ी- ककड़ी का गूदा को मुहासों पर लागने से जलन को शांत करने में मदद करता है और लालिमा और सूजन को कम करता है।

एलोवेरा- एलोवेरा के पत्तों का गूदा को मुहासों पर लागने से जलन को शांत करने में मदद करता है।

From Around the web