पुरुषों में शारीरिक कमजोरी और यौन-दुर्बलता होने पर तुलसी, के बीज का करें इस्तेमाल

तुलसी के आयुर्वेदिक फ़ायदे रोजाना तुलसी की 4-5 पत्तियों को पानी के साथ निगल जाए इसे मस्तिष्क की कार्यक्षमता बढ़ती है और याददाश्त तेज होती है। पुरुषों में शारीरिक कमजोरी होने पर तुलसी के बीज का इस्तेमाल काफी फायदेमंद होता है. इसके अलावा यौन-दुर्बलता और नपुंसकता में भी इसके बीज का नियमित इस्तेमाल फायदेमंद रहता
 
पुरुषों में शारीरिक कमजोरी और यौन-दुर्बलता होने पर तुलसी, के बीज का करें इस्तेमाल

तुलसी के आयुर्वेदिक फ़ायदे

  1. रोजाना तुलसी की 4-5 पत्तियों को पानी के साथ निगल जाए इसे मस्तिष्क की कार्यक्षमता बढ़ती है और

याददाश्त तेज होती है।

  1. पुरुषों में शारीरिक कमजोरी होने पर तुलसी के बीज का इस्तेमाल काफी फायदेमंद होता है. इसके अलावा

यौन-दुर्बलता और नपुंसकता में भी इसके बीज का नियमित इस्तेमाल फायदेमंद रहता है.

  1. मासिक चक्र की अनियमितता को दूर करने के लिए तुलसी के पत्तों का सेवन करना चाहिए।

  2. अगर आपको सर्दी या फिर हल्का बुखार है तो मिश्री, काली मिर्च और तुलसी के पत्ते को पानी में अच्छी तरह से

पकाकर उसका काढ़ा पीने से फायदा होता है. आप चाहें तो इसकी गोलियां बनाकर भी खा सकते हैं.

  1. अगर आप दस्त से परेशान हैं तो तुलसी के पत्तों को जीरे के साथ मिलाकर पीस लें. इसके बाद उसे दिन में 3-4

बार चाटते रहें. ऐसा करने से दस्त रुक जाती है

  1. सांस की दु्र्गंध को दूर करने में भी तुलसी के पत्ते काफी फायदेमंद होते हैं। अगर आपके मुंह से बदबू आ रही हो

तो तुलसी के कुछ पत्तों को चबा लें. ऐसा करने से दुर्गंध चली जाती है

  1. अगर आपको कहीं चोट लग गई हो तो तुलसी के पत्ते को फिटकरी के साथ मिलाकर लगाने से घाव जल्दी ठीक

हो जाता है. तुलसी में एंटी-बैक्टीरियल तत्व होते हैं जो घाव को पकने नहीं देता है. इसके अलावा तुलसी के पत्ते को

तेल में मिलाकर लगाने से जलन भी कम होती है.

  1. त्वचा संबंधी रोगों में तुलसी खासकर फायदेमंद है. इसके इस्तेमाल से कील-मुहांसे खत्म हो जाते हैं और चेहरा

साफ होता है.

  1. अगर कान में दर्द है तो तुलसी-पत्र-स्वरस को गर्म करके 2-2 बूँद कान में डालें। इससे कान दर्द से जल्दी आराम

मिलता है।

  1. तुलसी की पत्तियां दांत दर्द से आराम दिलाने में भी कारगर हैं। दांत दर्द से आराम पाने के लिए काली मिर्च और

तुलसी के पत्तों की गोली बनाकर दांत के नीचे रखने से दांत के दर्द से आराम मिलता है।

  1. तुलसी के नियमित सेवन से शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है जिससे सर्दी-जुकाम और अन्य संक्रामक

बीमारियों से बचाव होता है। 20 ग्राम तुलसी बीज चूर्ण में 40 ग्राम मिश्री मिलाकर पीस कर रख लें। सर्दियों में इस

मिश्रण की 1 ग्राम मात्रा का कुछ दिन सेवन करने से शारीरिक कमजोरी दूर होती है, शरीर की रोग प्रतिरोधक

क्षमता बढ़ती है।

  1. तुलसी-पत्रों का काढ़ा बनाकर सुबह, दोपहर और शाम को पीने से मलेरिया में लाभ होता है

From Around the web