जीवन के लिए बेहद चमत्कारी है यह तुलसी, ऐसे करना है सेवन

आपको बता दें तुलसी आयुर्वेदिक चिकित्सा पोस्ट्धति में सबसे ज्यादा प्रभावशाली औषधि के रूप में जानी जाती है। कैंसर और ऐसी अनेक लाइलाज बीमारियों में तुलसी चमत्कारिक रूप से फायदा पहुंचाती है। हम आपको बता दें तुलसी के पत्तों के रस को हल्का गर्म कर लें। अब दो-दो बूंद कान में टपकाएं। इससे कान का
 
जीवन के लिए बेहद चमत्कारी है यह तुलसी, ऐसे करना है सेवन

आपको बता दें तुलसी आयुर्वेदिक चिकित्सा पोस्ट्धति में सबसे ज्यादा प्रभावशाली औषधि के रूप में जानी जाती है। कैंसर और ऐसी अनेक लाइलाज बीमारियों में तुलसी चमत्कारिक रूप से फायदा पहुंचाती है। हम आपको बता दें तुलसी के पत्तों के रस को हल्का गर्म कर लें। अब दो-दो बूंद कान में टपकाएं। इससे कान का दर्द दूर होता है। कैसे करना है सेवन

सरकारी नौकरियां यहाँ देख सकते हैं :-

सरकारी नौकरी करने के लिए बंपर मौका 8वीं 10वीं 12वीं पास कर सकते हैं आवेदन

1000 से भी ज्यादा रेलवे की सभी नौकरियों की सही जानकारी पाने के लिए यहाँ क्लिक करें 

इससे भी होते है कई फायदे

जीवन के लिए बेहद चमत्कारी है यह तुलसी, ऐसे करना है सेवन

हम आपको बता दें दांत दर्द में काली मिर्च और तुलसी के पत्तों की गोली बनाकर दातों के नीचे रखने से बहुत आराम मिलता है। वहीं तुलसी के रस को गुनगुने पानी में मिलाकर कुल्ला करने से गले की बीमारियां दूर हो जाती हैं।

वही हम आपको बता दें इसके सेवन से उल्टी में आराम मिलता है।

तुलसी के पत्ते का रस दिन में तीन बार पीने से भूख बढ़ती है।

साथ ही साथ 2 ग्राम तुलसी की मंजरी को पीसकर काले नमक के साथ दिन में तीन-चार बार लेने से पेट दर्द में बहुत आराम मिलता है।

यह भी होते है इससे फायदे

जीवन के लिए बेहद चमत्कारी है यह तुलसी, ऐसे करना है सेवन

इसी के साथ हम आपको बता दें तुलसी के पत्तों के रस को हल्का गर्म कर लें।

अब दो-दो बूंद कान में टपकाएं। इससे कान का दर्द दूर होता है।

कान के पीछे की सूजन को ठीक करने के लिए तुलसी के पत्ते, अरंड की कोपलें।

चुटकी भर नमक को पीसकर उसका गुनगुना लेप लगाएं।

इससे कान के पीछे की सूजन खत्म हो जाती है। हम आपको बता दें दांत दर्द में काली मिर्च।

तुलसी के पत्तों की गोली बनाकर दातों के नीचे रखने से बहुत आराम मिलता है।

From Around the web