सिर्फ 7 दिन दूध में उबालकर छुहारे का सेवन करने से मिलते हैं यें फायदे

जैसे अंगूर का सूखा हुआ रूप किशमिश और मुनक्का होता है उसी तरह खजूर का सूखा हुआ रूप छुहारा होता है। पौष्टिकता से भरपूर छुहारा गर्म तासीर है इसलिए इसकी उपयोगिता सर्दियों में बढ़ जाती है, वैसे इसका सेवन सालभर किया जा सकता है। आज हम आपको सिर्फ 7 दिन दूध में उबालकर छुहारे का
 
सिर्फ 7 दिन दूध में उबालकर छुहारे का सेवन करने से मिलते हैं यें फायदे

जैसे अंगूर का सूखा हुआ रूप किशमिश और मुनक्का होता है उसी तरह खजूर का सूखा हुआ रूप छुहारा होता है। पौष्टिकता से भरपूर छुहारा गर्म तासीर है इसलिए इसकी उपयोगिता सर्दियों में बढ़ जाती है, वैसे इसका सेवन सालभर किया जा सकता है। आज हम आपको सिर्फ 7 दिन दूध में उबालकर छुहारे का सेवन करने से मिलने वाले फायदों के बारे में बताएंगे तो आइए जान लेते हैं।

छुहारे के सेवन से फेफड़े और चेस्ट को शक्ति मिलती है और श्वास रोग में लाभ होता है। शरीर को मजबूत बनाने के लिए दो-तीन छुहारे पांच सौ ग्राम दूध में देर तक उबालें।जब दूध तीन सौ ग्राम शेष रह जाए तो उसमें मिश्री मिलाकर सेवन करें। सुबह-शाम दो छुहारे चबाकर खाने और हल्का गर्म पानी पीने से कब्ज दूर होता है। इसके अलावा छुहारे और किशमिश खाने से भी कब्ज दूर होता है।

शारीरिक निर्बलता के कारण ऋतुस्राव में अवरोध होने पर छुहारे के सेवन से ऋतुस्राव प्राकृतिक रूप से समय पर होने लगता है। पौढ़ावस्था में रात के समय बार-बार पेशाब त्याग के लिए मुश्किल हो तो कुछ दिन तक छुहारों का सेवन करें।

छुहारे और गाय का दूध पीने से शरीर में कैल्शियम की कमी पूरी होती है। क्योंकि छुहारों में कैल्शियम अधिक मात्रा में होता है। छोटे बच्चों को छुहारे खिलाने से उनके बिस्तर पर पेशाब करने की समस्या दूर होती है। दो छुहारे दूध में उबालकर रात को खाने और दूध पीने से स्वर बहुत सुरीला होता है।

छुहारे को दूध में उबालकर खाने और दूध पीने से एक सप्ताह में बवासीर नष्ट होता है। छुहारे कब्ज को नष्ट करके बवासीर रोग का निवारण करते हैं। छुहारे में मौजूद विटामिन बी5 बालों को स्वस्थ बनाए रखने में सहायक है।

From Around the web