हीमोग्लोबिन, मधुमेह, प्रतिरक्षा और कई अन्य बीमारियों को ठीक करता है हरा धनिया

हरा धनिया का उपयोग न केवल मसाले के रूप में या सजावट और स्वाद के लिए किया जाता है, बल्कि इसमें कई औषधीय गुण भी होते हैं। यह न सिर्फ खाने का स्वाद बढ़ाता है बल्कि शरीर की कई बीमारियों को भी दूर करता है। पढ़ें धनिया के औषधीय गुण आयरन, मिनरल, विटामिन ए, सी
 
हीमोग्लोबिन, मधुमेह, प्रतिरक्षा और कई अन्य बीमारियों को ठीक करता है हरा धनिया

हरा धनिया का उपयोग न केवल मसाले के रूप में या सजावट और स्वाद के लिए किया जाता है, बल्कि इसमें कई औषधीय गुण भी होते हैं। यह न सिर्फ खाने का स्वाद बढ़ाता है बल्कि शरीर की कई बीमारियों को भी दूर करता है। पढ़ें धनिया के औषधीय गुण

आयरन, मिनरल, विटामिन ए, सी और एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर। शरीर में खून की कमी को पूरा करने के लिए सीताफल का सेवन करने से शरीर में खून की कमी पूरी हो जाती है। धनिया ठंडा, पाचक, प्यास बुझाने वाला होता है।

रोजाना खाने में धनिया की चटनी खाने से अपच, नाराज़गी, पेट फूलना, अल्सर, बवासीर नहीं होता है।

आंखों में जलन, आंखों के नीचे काले घेरे, सूखी आंखें और कमजोरी जैसी कई आंखों की बीमारियों के लिए सीताफल उपयोगी है।

शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के साथ-साथ शरीर की थकान और उत्तेजना को बढ़ाने के लिए 2 चम्मच धनिया और आधा इंच अदरक को एक गिलास पानी में उबाल लें। इस चाय को पीने से भूख भी बढ़ती है।

यदि पाचन क्रिया ठीक से न हो पाने के कारण दस्त होता है तो एक गिलास धनिये को पानी में मिलाकर पीने से दस्त बंद हो जाते हैं।

एसिड रिफ्लक्स के कारण गले और छाती में जलन और गले में खराश होती है, तो एसिड रिफ्लक्स के लक्षणों को कम करने के लिए एक चम्मच धनिया पाउडर और एक चम्मच पिसी चीनी दिन में दो से तीन बार लें।

From Around the web