अनार के दाने की तरह उसका छिलका भी है गुणकारी जो आपकी इन बीमारियों से करता है रक्षा

■ अनार का छिलका – अनार का हर एक दाना सेहत के लिहाज से काफी फायदेमंद है। सिर्फ अनार का दाना ही नहीं बल्कि अनार का छिलका भी काफी गुणकारी है। ■ इसलिए अनार का छिलका बेकार समझकर फेंकने के बजाय उसका सेवन करने से आप कई बीमारियों से खतरे से बच सकते हैं। ■
 
अनार के दाने की तरह उसका छिलका भी है गुणकारी जो आपकी इन बीमारियों से करता है रक्षा

■ अनार का छिलका – अनार का हर एक दाना सेहत के लिहाज से काफी फायदेमंद है। सिर्फ अनार का दाना ही नहीं बल्कि अनार का छिलका भी काफी गुणकारी है।

■ इसलिए अनार का छिलका बेकार समझकर फेंकने के बजाय उसका सेवन करने से आप कई बीमारियों से खतरे से बच सकते हैं।

■ कैसे करें अनार का छिलका इस्तेमाल

● अनार के छिलकों को सुखाकर उसका पाउडर बना लें और उसे एक शीशी में भरकर रख लें या फिर उसे पीसकर उसके रस का इस्तेमाल भी कर सकते हैं। अनार के छिलकों का सेवन गले का टॉन्सिल, हृदय रोग, मुहांसे, झुर्रियों, मुंह की बदबू, बवासीर और खांसी जैसी कई बीमारियों से राहत दिलाने में फायदेमंद है।

1- दिल की बीमारियों से बचाए – अनार के छिलकों में भरपूर मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट पाए जाते हैं। जो दिल की बीमारियों से बचाने में मदद करते हैं। रोज दिन में दो बार एक चम्मच अनार के छिलके के पाउडर को गरम पानी के साथ पीने से कोलेस्ट्रॉल का स्तर भी कम होता है।

2- हड्डियों को बनाए मजबूत – अनार के दानों की तरह अनार के छिलके भी कमजोर हड्डियों के लिए बेहद फायदेमंद है। अनार के छिलकों में मौजूद एंटीबैक्टीरियल गुण कमजोर हड्डियों को मजबूती प्रदान करते हैं। हड्डियों को मजबूत बनाने के लिए एक गिलास गुनगुने पानी में 2 चम्मच अनार के छिलके का पाउडर मिलाकर उसे सोने से पहले पीना चाहिए।

3- गले के दर्द में फायदेमंद – अगर आप गले के दर्द या टॉन्सिल की समस्या से परेशान है। तो अनार के छिलके के पावडर को थोड़े से पानी में उबाल लें फिर इस काढ़े को ठंडा कर के गरारा करें. इस प्रक्रिया को दिन में 2-3 बार दोहराएँ ऐसा करने से आपको गले की समस्या से राहत जरूर मिलेगी।

From Around the web