जानिए कैसे एलोवेरा जूस हो सकता है अनेक बड़ी बीमारियों का इलाज

औषधी की दुनिया में एलोवेरा किसी चमत्कार से कम नहीं। एलोवेरा एक संजीवनी है यानी इसमें संजीवनी बूटी के सभी गुण मौजूद हैं। एलोवेरा से तमाम रोग दूर किए जा सकते हैं। एलोवेरा औषधीय गुणों से परिपूर्ण है। एलोवेरा के जूस और एलोवेरा युक्त उत्पाद के सेवन और इस्तेमाल से फिट रहा जा सकता है।
 
जानिए कैसे एलोवेरा जूस हो सकता है अनेक बड़ी बीमारियों का इलाज

औषधी की दुनिया में एलोवेरा किसी चमत्कार से कम नहीं। एलोवेरा एक संजीवनी है यानी इसमें संजीवनी बूटी के सभी गुण मौजूद हैं। एलोवेरा से तमाम रोग दूर किए जा सकते हैं। एलोवेरा औषधीय गुणों से परिपूर्ण है। एलोवेरा के जूस और एलोवेरा युक्त उत्पाद के सेवन और इस्तेमाल से फिट रहा जा सकता है। आइए जानें आखिर एलोवेरा है क्या।

एलोवेरा का जूस प्रतिदिन पीने से मोटापा कम होता है. मोटापे के लिए, 10 ग्राम एलोवेरा के रस में मेथी के ताजे पत्तों को पीसकर उसे मिलाकर रोजाना सेवन करना चाहिए अथवा 20 ग्राम एलोवेरा के रस में 4 ग्राम के लगभग गिलोय का चूर्ण मिलाकर 1 महिने तक सेवन करना चाहिए. ऐसा करने से मोटापे से राहत मिलती है.

एलोवेरा के रस को आंवला और जामुन के साथ उपयोग करने से बालों को मजबूती मिलती है. बाल झड़ना बंद हो जाते है. और साथ ही आंखों की रौशनी भी बढती है. यदि आपके सिर से बाल जड़ से खत्म हो रहे हैं, तो एलोवेरा ला रस नियमित सिर पर लगाने से सिर में नए बाल आने लगते है.

शक्ति तथा स्फूर्ति का अहसास. एलोवेरा बढि़या एंटीबायोटिक और एंटीसेप्टिक के रूप में काम करता है। एलोवेरा में शरीर की अंदरूनी सफाई करने और शरीर को रोगाणु रहित रखने के गुण भी मौजूद है। यह हमारे शरीर की छोटी बड़ी नस, ना़डि़यों की सफाई करता है उनमें नवीन शक्ति तथा स्फूर्ति भरता है।

यदि आपको खांसी हो जाती है तो एलोवेरा का रस पीना चाहिए. खांसी में एलोवेरा दवाई का काम करता है. एलोवेरा के पत्ते को भूनकर उसका रस निकाल लें और आधा चम्मच जूस को एक कप गर्म पानी के साथ लेने से नजले-खांसी में फायदा होता है.

अतः हम कह सकते है की एलोवेरा का उपयोग हम कई प्रकार से कर सकते है जिससे हमें कई बीमारियों को ठीक करने में सहायता मिलती है.

From Around the web