शरीर को रखना है बुढ़ापे से दूर, तो अपनाइए ये टिप्स

आज हर कोई मनुष्य अपने को जवान दिखाना चाहता है, और उसके लिए लाखों रुपए भी खर्च करता है , यदि वह नियमित रुप से इन आयुर्वेदिक औषधियों का प्रयोग करें और भगवान पर विश्वास रखे तो इन औषधियों के प्रयोग से वह कभी बूढ़ा नहीं होगा ,और यदि वह बूढ़ा है, तो वह पुनः
 
शरीर को रखना है बुढ़ापे से दूर, तो अपनाइए ये टिप्स

आज हर कोई मनुष्य अपने को जवान दिखाना चाहता है, और उसके लिए लाखों रुपए भी खर्च करता है , यदि वह नियमित रुप से इन आयुर्वेदिक औषधियों का प्रयोग करें और भगवान पर विश्वास रखे तो इन औषधियों के प्रयोग से वह कभी बूढ़ा नहीं होगा ,और यदि वह बूढ़ा है, तो वह पुनः जवान हो जाएगा

1 :-गोखरु ,आंवला और गिलोय:- इन तीनों को बराबर मात्रा में मिलाकर इनका चूर्ण बना लीजिए और शहद या घी के साथ मिलाकर चाटने से व्यक्ति का बलवीर्य बढ़ता है । उसको स्थिरता और शांति की प्राप्ति होती है।
विकार एवं दुख से रहित काले बालों वाला रहकर इस योग का सेवन करने वाला 100 वर्ष तक जीता है ।

2:- शतावर, मोचरस, छिले हुए और शुद्ध कौंच के बीज , ताल मखाने :- इन सब को बराबर मात्रा में लेकर चूर्ण बना लीजिए तथा जितना इनका कुल वजन हो उसके बराबर इसमें मिश्री पीसकर मिला लीजिए। व सबको मिलाकर रख लें। इस चूर्ण को 5 ग्राम रोज सुबह व रात को खाकर ऊपर से मीठा दूध पी लें । यह चूर्ण बूढ़ों को जवान बना देने वाला है ।लगातार 2-3 महीने​ तक प्रयोग करें।

3:- आंवला और शहद :- आंवला को चूर्ण बनाकर कपडे से छान कर रख लें। पांच ग्राम चूरन को शहद में मिलाकर सुबह शाम खायें। इसके सेवन से बहुत अधिक बल वीर्य की वृद्धि होगी ।

From Around the web