महिला अपने पति को उनके नाम से क्यों नहीं बुलाती, आखिर सच्चाई क्या है देखें

रोचक बातें : देश में धार्मिक परंपराओं को निभाने में कोई कसर नहीं छोड़ी जाती है। यहां पर पत्नी अपने पति को भगवान के समान मानती है और पत्नी का यह धर्म भी होता है, कि वह अपने पति का हर अच्छे बुरे समय में सहयोग करें। स्कंद पुराण में इसके बारे में कहा गया
 
महिला अपने पति को उनके नाम से क्यों नहीं बुलाती, आखिर सच्चाई क्या है देखें

रोचक बातें : देश में धार्मिक परंपराओं को निभाने में कोई कसर नहीं छोड़ी जाती है। यहां पर पत्नी अपने पति को भगवान के समान मानती है और पत्नी का यह धर्म भी होता है, कि वह अपने पति का हर अच्छे बुरे समय में सहयोग करें। स्कंद पुराण में इसके बारे में कहा गया है, जो स्त्री अपने पति को नाम लेकर बुलाती है। वह अपने पति की आयु कम करती है, जो अपने पति के कहे अनुसार नहीं चलती ऐसी स्त्री इस लोक और परलोक में घोर कष्ट पाती है।

पतिव्रता स्त्री

कभी अपने पति को उनका नाम लेकर नहीं बुलाती, उसके खाना खाने के खुद भोजन का सेवन करती है। पति के सोने के बाद होती है और पति से पहले उठ जाती है। जब पति किसी दूसरे गांव या शहर गया हो, तो पतिव्रता स्त्री कभी भी संगार नहीं करती है। पतिव्रता स्त्री अपने पति के बराबर के आसन पर कभी भी नहीं बैठती। उस स्त्री से यमराज भी डरता है।

मित्रों आपको यह आर्टिकल कैसा लगा? अपने कीमती विचार हमें कमेंट बॉक्स में लिखें इसे लाइक और अपने दोस्तों में शेयर करें।

From Around the web