1.8 मिलियन डॉलर की बिकती है ये मछली, क्या है खास वजह

संसार में बहुत ही ऐसी बातें हैं और ख़बरें हैं जिस पर आपको भरोसा करना असंभव सा लगता है और ऐसी ही एक रोचक खबर बुलेट ट्रेन वाले देश यानी जापान से आपके सामने आई है मछली 12.59 करोड़ में बेचीं गयी है। आइये जानते हैं कि आखिर ऐसी क्या खासियत थी जिस वजह इसकी
 
1.8 मिलियन डॉलर की बिकती है ये मछली, क्या है खास वजह

संसार में बहुत ही ऐसी बातें हैं और ख़बरें हैं जिस पर आपको भरोसा करना असंभव सा लगता है और ऐसी ही एक रोचक खबर बुलेट ट्रेन वाले देश यानी जापान से आपके सामने आई है मछली 12.59 करोड़ में बेचीं गयी है। आइये जानते हैं कि आखिर ऐसी क्या खासियत थी जिस वजह इसकी कीमत इतनी ज़्यादा थी।

सरकारी नौकरियां यहाँ देख सकते हैं :-

सरकारी नौकरी करने के लिए बंपर मौका 8वीं 10वीं 12वीं पास कर सकते हैं आवेदन

1000 से भी ज्यादा रेलवे की सभी नौकरियों की सही जानकारी पाने के लिए यहाँ क्लिक करें 

1.8 मिलियन डॉलर की बिकती है ये मछली, क्या है खास वजह

जापान की पहली सजावटी मछली

दरअसल कोहाकु एक जापानी शब्द है जिसका मतलब लाल और सफेद होता है। टिम वाडिंगटन जो एक ब्रिटिश विशेषज्ञ हैं उन्होंने बताया कि कोहाकु प्रजाति की यह मछली आमतौर पर एक ही रंग की होती है जिसके ऊपरी हिस्से पर लाल धब्बा होता है और इस दो रंगों की वजह से ही इसे कोहाकु कहा जाता है।

1.8 मिलियन डॉलर की बिकती है ये मछली, क्या है खास वजह

जापान में एक मछली की लंबाई 101 सेमी बताई है जो 1.8 मिलियन डॉलर (लगभग 12.59 करोड़ रुपए) में बिकी है। मछली के बारे में बताया रहा है की यह कोहाकु प्रजाति की है। आपको बता दें की कोहकु को जापान की पहली सजावटी मछली भी माना जा रहा है।

1.8 मिलियन डॉलर की बिकती है ये मछली, क्या है खास वजह

इससे पहले मरी हुई ब्लूफिन टूना के नाम था रिकॉर्ड

हिरोशिमा के एक फिश फार्म में इसकी लाइव बोली लगाईं गई। मछली की कीमत शुरुआत में 35 हजार रुपये ही रखी गई थी परन्तु अंत में यह 12.59 करोड़ रुपए में बेची गयी।बता दें की पहले सबसे महंगी मछली एक मरी हुई ब्लूफिन टूना थी और सबसे महंगी मछलीं का रिकॉर्ड भी इसके नाम था जो 222 किलो की थी और लगभग 9.79 करोड़ रुपए में बिकी थी।

From Around the web