15 दिन से लापता हो रहे थे गांव के जानवर, जब सच्चाई सामने आयी तो उड़ गए सबके होश

झारंखड के जमशेदपुर से सटे भुतहा गांव में पिछले कुछ दिनों से ग्रामीण काफी परेशान थे. सभी जानवर जो खेत की ओर चरने जाते थे लेकिन वापस लौटकर नहीं आते थे. गाँव के लोग इसे दैवीय प्रकोप मानने लगे और इस बात को लेकर काफी चिंतित हो गए लेकिन असल में जब उन्हें सच्चाई पता
 
15 दिन से लापता हो रहे थे गांव के जानवर, जब सच्चाई सामने आयी तो उड़ गए सबके होश

झारंखड के जमशेदपुर से सटे भुतहा गांव में पिछले कुछ दिनों से ग्रामीण काफी परेशान थे. सभी जानवर जो खेत की ओर चरने जाते थे लेकिन वापस लौटकर नहीं आते थे. गाँव के लोग इसे दैवीय प्रकोप मानने लगे और इस बात को लेकर काफी चिंतित हो गए लेकिन असल में जब उन्हें सच्चाई पता चली तो उनके भी होश उड़ गए.

खेतों में छटपटा रहीं थी बकड़ी

दरअसल गांव का ही एक व्यक्ति जब खेतों में टहलने गया तो तब उसने एक जानवर को खेत में छटपटाते देखा इसी बीच वह आनंद-फांनद में उसको बचाने दौड़ पड़ा और जब वह सामने पहुंचे तो उसने देखा की 20 फीट से भी बड़ा अजगर मौजूद था जिसने बकड़ी को शिकार के लिए जकड़ कर रखा था. ग्रामीण ने अन्य लोगों को भी इसकी सूचना दी. ग्रामीण भी खेत में इकट्ठा हुए और वहां अजगर को काबू किया.

अजगर को उठा लिया अपने कंधों पे

गांव वालों में सबसे अधिक खुशी इस बात की हैं की अब उन्हें अपने जानवरों की सुरक्षा को लेकर डरने की जरूरत नहीं है. गांव वाले इतने ज्यादा खुश थे की सबने अजगर को कंधे पर रखकर पूरे गांव में घुमाया.

From Around the web