अटल जी पर विशेष : जब एक ही क्लास में पढ़ें अटल जी और उनके पिताजी, जानिए रोचक किस्सा

Atal Bihari Vajpayee: भारत की राजनीती के वो नेता थे जो कभी कभी ही धरती पर आते हैं। उनकी प्रतिभा का बखान शब्दों के बस से बाहर है।किसी नेता के जाने का सबसे ज्यादा दुःख अगर जनता को दिल से हुआ है तो वो अटल जी के लिए हुआ है। आज हम उनके जीवन से
 
अटल जी पर विशेष : जब एक ही क्लास में पढ़ें अटल जी और उनके पिताजी, जानिए रोचक किस्सा

Atal Bihari Vajpayee: भारत की राजनीती के वो नेता थे जो कभी कभी ही धरती पर आते हैं। उनकी प्रतिभा का बखान शब्दों के बस से बाहर है।किसी नेता के जाने का सबसे ज्यादा दुःख अगर जनता को दिल से हुआ है तो वो अटल जी के लिए हुआ है। आज हम उनके जीवन से जुडी रोचक बात आपके साथ शेयर कर रहे हैं।

अटल जी पर विशेष : जब एक ही क्लास में पढ़ें अटल जी और उनके पिताजी, जानिए रोचक किस्सा

अटल जी के पिता जी पंडित कृष्ण बिहारी वाजपेयी जी सेवानिवृत हो चुके थे।उन्होंने विचार बनाया की वो अटल जी के साथ ही LLB की पढ़ाई शुरू कर दें क्योंकि उनकी शिक्षा में बहुत रूचि थी।उन्होंने अटल जी साथ ही कॉलेज में दाखिला ले लिया और अटल जी के साथ ही एक ही सेक्शन और क्लास में दोनों पढ़ाई करने लगे।

अटल जी पर विशेष : जब एक ही क्लास में पढ़ें अटल जी और उनके पिताजी, जानिए रोचक किस्सा

उनकी जीवनी लिख रहे लेखक को उन्होंने बताया अगर किसी कारणवश में कक्षा में नहीं जा पता था तो अध्यापक मेरे पिताजी से पूछते थे “मिस्टर वाजपेयी आपके पुत्र कहाँ हैं?” और अगर पिता जी नहीं आते थे तो मुझसे पूछते थे की आपके पिताजी क्यों नहीं आये? यह सुनकर कक्षा ठहाकों से गूंज उठती थी।

अटल जी पर विशेष : जब एक ही क्लास में पढ़ें अटल जी और उनके पिताजी, जानिए रोचक किस्सा

इससे अटल जी को लगा की इससे उनके पिताजी की गरिमा को ठेस पहुँचती होगी इसलिए फिर उन्होंने अपना सेक्शन बदली करवा लिया।हॉस्टल में भी वो अपने पिता के साथ एक ही कमरे में रहते थे।

अटल जी भारत की राजनीती के वो युगपुरुष थे जिनके लिए जनता का हृदय और आँख पानी पानी है।शायद ही किसी राजनेता को दिल से इतना प्यार मिला हो। हम भारत माँ के सच्चे सपूत को नमन करते हैं।

From Around the web