इतिहास के पन्नों में: 20 सितंबर

 
In the pages of history September 20

आध्यात्म विज्ञानी का जन्म: 20 सितंबर 1911 को उत्तर प्रदेश के जनपद आगरा के आंवलखेड़ा गांव में युगदृष्टा मनीषी पंडित श्रीराम शर्मा आचार्य का जन्म हुआ। काशी में महामना मदनमोहन मालवीय से गायत्री मंत्र की दीक्षा लेकर आधुनिक व प्राचीन विज्ञान एवं धर्म के समन्वय से नवचेतना का संकल्प लेने वाले श्रीराम शर्मा आचार्य ने अखिल विश्व गायत्री परिवार की स्थापना की।

पूरी जवानी स्वतंत्रता आंदोलन में सक्रिय रहने के बाद उन्होंने बाकी जिंदगी समाजसेवा और लोगों के सांस्कृतिक व चारित्रिक उत्थान के लिए समर्पित कर दिया। उनकी इच्छा थी कि जनमानस आत्मावलम्बी बने और राष्ट्र के प्रति उसका स्वाभिमान जागे। उन्होंने युग निर्माण की यात्रा को गायत्री परिवार, प्रज्ञा अभियान के जरिये आगे बढ़ाया।02 जून 1990 को उन्होंने अंतिम सांस ली। उनके विचार आज भी प्रेरक हैं। उनका कथन था- 'जीवन में दो ही व्यक्ति असफल होते हैं, एक वे जो सोचते हैं पर करते नहीं हैं, दूसरे वे जो करते हैं पर सोचते नहीं।'

In the pages of history September 20

अन्य अहम घटनाएं:

1547ः मध्यकालीन भारत के विद्वान व फारसी कवि फैजी का जन्म।

1857: मद्रास के समाचार पत्र 'द हिन्दू' जीएस अय्यर के संपादकीय नेतृत्व में साप्ताहिक अंक के रूप में पहली बार प्रकाशित हुआ।

1857: ब्रिटिश सैनिकों ने बागियों से दिल्ली को मुक्त करवाकर कब्जा किया।

1970ः रूसी प्रोब ने चांद की सतह से कुछ चट्टानें इकट्ठा की।

2009ः मराठी फिल्म 'हरिश्चचंद्राची फैक्ट्री' को ऑस्कर अवार्ड की विदेशी फिल्म कैटेगरी में भारत में एंट्री के रूप में चुना गया।

From Around the web