भारत से दूर एक इस्लाम देश में, माँ दुर्गा का है एक पुराना मंदिर

इरान आर्मेनिया जॉर्जिया और कैस्पियन से घिरा एक देश अजरबैजान भारत से बहुत दूर एक मुस्लिम बहुल देश है जहां पर करीब 99 फ़ीसदी आबादी मुस्लिमों की है। लेकिन यह देश हिंदुओं की आस्था से भी जुड़ा हुआ है अजरबैजान के सराहनीय में मां दुर्गा का एक मंदिर है यह मंदिर करीब 300 साल पुराना
 
भारत से दूर एक इस्लाम देश में, माँ दुर्गा का है एक पुराना मंदिर

इरान आर्मेनिया जॉर्जिया और कैस्पियन से घिरा एक देश अजरबैजान भारत से बहुत दूर एक मुस्लिम बहुल देश है जहां पर करीब 99 फ़ीसदी आबादी मुस्लिमों की है। लेकिन यह देश हिंदुओं की आस्था से भी जुड़ा हुआ है अजरबैजान के सराहनीय में मां दुर्गा का एक मंदिर है यह मंदिर करीब 300 साल पुराना है।

इस मंदिर की खास बात यह है कि इसमें पिछले कई सालों से पवित्र अग्नि लगातार जल रही है लगातार जल रही इस अग्नि की वजह से मां दुर्गा के इस मंदिर को टेंपल ऑफ़ फायर भी कहा जाता है। मां दुर्गा के इस मंदिर को लेकर ऐसा माना जाता है कि कई सालों पहले भारतीय कारोबारी इसी रास्ते से रूस समेत कई अन्य देश कारोबार के लिए जाते थे इन्हीं कारोबारियों में एक ने इस मंदिर का निर्माण करवाया था।

मंदिर का निर्माण होने के बाद उस रास्ते से होकर गुजरने वाले ज्यादातर भारतीय व्यापारी इस मंदिर में अपना मतदान जरुर देखते थे और मंदिर के पास बनी कोठियों में आराम किया करते थे।

जानकारों का कहना है कि ईरान के लोग भी मां दुर्गा के मंदिर में पूजा करने आते थे 1807 ईसवी में इस मंदिर के पुजारी चले गए जिसके बाद से यहाँ कोई पुजारी यहां नहीं आया और तभी से इस मंदिर में श्रद्धालुओं का आना भी लगभग खत्म हो गया। 1975 में अजरबैजान की सरकार ने मां दुर्गा के इस मंदिर को स्मारक बना दिया 1998 में यूनेस्को की वर्ल्ड हेरिटेज साइट्स के लिए इस मंदिर को नॉमिनेट किया गया था।

From Around the web