कैसे हुई थी इन तीन लाख प्याज की लूट, कौन था इसके पीछे 

कसमार थाना क्षेत्र के कमलापुर गांव में बुधवार सुबह एनएच-23 पर एक पिकअप वैन अनियंत्रित होकर सड़क पर पलट गया। पिकअप वैन में प्याज लदा था। वैन के पलटने के बाद आसपास के ग्रामीणों ने जमकर प्याज की लूट की और थोड़ी ही देर में सड़क से सारा प्याज उठाकर चलते बने। सरकारी नौकरियां यहाँ
 
कैसे हुई थी इन तीन लाख प्याज की लूट, कौन था इसके पीछे 

कसमार थाना क्षेत्र के कमलापुर गांव में बुधवार सुबह एनएच-23 पर एक पिकअप वैन अनियंत्रित होकर सड़क पर पलट गया। पिकअप वैन में प्याज लदा था। वैन के पलटने के बाद आसपास के ग्रामीणों ने जमकर प्याज की लूट की और थोड़ी ही देर में सड़क से सारा प्याज उठाकर चलते बने।

सरकारी नौकरियां यहाँ देख सकते हैं :-

सरकारी नौकरी करने के लिए बंपर मौका 8वीं 10वीं 12वीं पास कर सकते हैं आवेदन

1000 से भी ज्यादा रेलवे की सभी नौकरियों की सही जानकारी पाने के लिए यहाँ क्लिक करें 

कैसे हुई थी इन तीन लाख प्याज की लूट, कौन था इसके पीछे 

जानकारी के मुताबिक, पिकअप वैन में करीब तीन लाख रुपए का 50 पैकेट प्याज लदा था।

पिकअप वैन रांची से बोकारो की ओर आ रही थी।

इसी दौरान सामने से आ रही तेज रफ्तार गाड़ी को देख ड्राइवर ने अपना नियंत्रण खो दिया जिससे पिकअप वैन सड़क किनारे पलट गई। प्याज लदे पिकअप वैन के पलटने की सूचना के बाद ग्रामीण मौके पर पहुंचे और सड़क पर बिखरे प्याजं की लूट कर ली। जिसे जितना मिला लेकर चलता बना।

कैसे हुई थी इन तीन लाख प्याज की लूट, कौन था इसके पीछे 

जानकारी के मुताबिक, प्याज से भरे पिकअप वैन के दुर्घटनाग्रस्त होने के बाद घटनास्थल पर पहुंचे ग्रामीणों ने ड्राइवर को बचाने के बजाय प्याज लूटने में व्यस्त रहे। उधर, कुछ ग्रामीणों की सहयोग से घायल ड्राइवर को दुर्घटनाग्रस्त वैन से निकालकर बोकारो जेनरल अस्पातल भेजा गया।

घायल ड्राइवर की पहचान 35 वर्षीय जेठू महतो, रामगढ़ निवासी के रूप में हुई है।

कैसे हुई थी इन तीन लाख प्याज की लूट, कौन था इसके पीछे 

ड्राइवर के सिर में गंभीर चोट है और उसके एक हाथ टूट गया है।

उधर, कसमार थाना के प्रभारी राजेंद्र कुमार ने बताया कि घटना के संबंध में उन्हें सूचना मिली है।

फिलहाल, जांच पड़ताल की जा रही है।

From Around the web