गर्लफ्रेंड ने दिया प्यार में धोखा तो वह बन गया ‘बेवफा चायवाला’, पढ़ें सच्ची कहानी

प्यार में धोखा बहुत महंगा पड़ता है। कुछ लोग अत्यधिक निर्णय लेते हैं, जैसे आत्महत्या। कुछ, बदले में, एक नया जीवन जीने लगते हैं। हालांकि प्यार में लुटे जाने का अहसास उनके मन में बना रहता है। मध्य प्रदेश के रहने वाले एक युवक के उस वक्त तबाह हो गया जब उसकी प्रेमिका ने उसे
 
गर्लफ्रेंड ने दिया प्यार में धोखा तो वह बन गया ‘बेवफा चायवाला’, पढ़ें सच्ची कहानी

प्यार में धोखा बहुत महंगा पड़ता है। कुछ लोग अत्यधिक निर्णय लेते हैं, जैसे आत्महत्या। कुछ, बदले में, एक नया जीवन जीने लगते हैं। हालांकि प्यार में लुटे जाने का अहसास उनके मन में बना रहता है। मध्य प्रदेश के रहने वाले एक युवक के उस वक्त तबाह हो गया जब उसकी प्रेमिका ने उसे प्यार में धोखा दिया। इस दुख पर विजय पाकर उन्होंने नए जोश के साथ अपना काम फिर से शुरू कर दिया। हालांकि, प्यार की याद को अपने दिमाग में रखने के लिए उन्होंने अपनी चाहतपरी का नाम ‘बेवफा चायवाला’ रख दिया। इसी अलग नाम से यह चाय और इसकी टपरी चर्चा में आ गई है।

मध्य प्रदेश के बैतूल में राष्ट्रीय राजमार्ग 69 के पास डोडरमोहर गांव में ‘बेवफा चायवाला’ लिखा हुआ एक बोर्ड है। नाम सुनते ही कई राहगीर रुक जाते हैं। यहां चाय का आनंद लेंते है और आगे की यात्रा शुरू करते हैं। यह नाम ही कई लोगों को आकर्षित कर रहा है। इस दुकान को यह नाम देने के पीछे एक कारण है। कुछ लोग इसी नाम से इस दुकान के साथ सेल्फी ले रहे हैं।

इसकी शुरुआत छह महीने पहले मंगल नाम के युवक ने की थी। प्रेम में प्रेमिका से धोके से मंगल तबाह हो गया। वह एक अकेला था। दोस्तों और परिवार ने उसे समझाया। इस अवसर पर धैर्य ने उन्हें खड़े होने के लिए प्रोत्साहित किया। धीरे-धीरे वह ठीक हो गया। उन्होंने कुछ महीनों तक काम करके पैसा कमाया। इसके बाद उन्होंने इस हाईवे के बगल में एक चाय की दुकान शुरू की। उन्होंने अपनी दुकान का नाम ‘बेवफा चायवाला’ रखा ताकि उनका प्यार और उनकी प्रेमिका द्वारा दिए गए धोके को हमेशा याद रखा जाए। नाम ही यहां कई लोगों को आकर्षित करता है।

उसे गांव में रहने वाली एक युवती से प्यार हो गया। वह भी मंगल से प्यार करती थी। दोनों ने एक दुसरे के साथ जीने मरने की कसम खाई थी। अचानक युवती ने दूसरी शादी कर ली। उसने उसे धोखा दिया। उसे समझ नहीं आया कि उसने ऐसा क्यों किया।  मंगल ने बताया कि वो वास्तव में उससे सच्चा प्यार करता था। मंगल ने कहा कि दुकान को उनकी याद में ‘बेवफा चायवाला’ नाम दिया गया था।

छह महीने पहले लॉन्च हुई दुकान को अच्छा रिस्पॉन्स मिल रहा है। यहां कई राहगीर रुकते हैं। वे इस नाम के बारे में पूछते हैं। फिर कुछ सेल्फी लेते हैं। कई लोगों ने आपको नई शुरुआत की शुभकामनाएं भी देते हैं। उन्होंने कहा कि उनका स्नेह उत्साहजनक था। उन्होंने यह भी कहा कि प्यार के लिए नाम हमेशा याद रखा जाएगा।

मंगल की दुकान पर आने वाले कई लोग उनकी कड़ी मेहनत की सराहना करते हैं। उनकी दुकान का नाम आकर्षक है और वह अच्छी चाय भी बनाते हैं। कई लोगों ने कहा कि वह हमेशा यहां चाय का आनंद लेने आते थे। मंगल इस दुकान को शुरू करने से उनके दोस्त और परिवार वाले काफी खुश हैं। अब वह दुख को भूलकर नए सिरे से शुरुआत करने की उम्मीद करता है।

From Around the web