वृद्धाश्रम घूमने गई पोती की हुई उसकी दादी से मुलाकात, आगे जानकर शर्म से झुक जाएगा सिर

यह तस्वीर खुद में ही हज़ारों शब्द बयाँ करती नज़र आ रही है. दरअसल हाल ही में 2018 का एक सोशल मीडिया पर एक वीडियो तेजी से वायरल हो रहा था जिसमें यह दावा किया जा रहा था कि चित्र में दिख रही बुज़ुर्ग महिला कोई और नहीं बल्कि उसकी दादी माँ हैं. विडियो इतना
 
वृद्धाश्रम घूमने गई पोती की हुई उसकी दादी से मुलाकात, आगे जानकर शर्म से झुक जाएगा सिर

यह तस्वीर खुद में ही हज़ारों शब्द बयाँ करती नज़र आ रही है. दरअसल हाल ही में 2018 का एक सोशल मीडिया पर एक वीडियो तेजी से वायरल हो रहा था जिसमें यह दावा किया जा रहा था कि चित्र में दिख रही बुज़ुर्ग महिला कोई और नहीं बल्कि उसकी दादी माँ हैं. विडियो इतना भावनात्मक था कि हमसे ना रहा गया, सोचा इस पर आर्टिकल बनना चाहिए और हर रीडर को पढना चाहिए. क्योंकि ये विडियो एक सीख देता है. आइये जानते हैं क्या है पूरा मामला.

दरअसल हुआ यूँ की जिस स्कूल में बच्ची पढ़ रही थी, उस स्कूल वाले सभी छात्रों को वृद्धाश्रम घुमाने ले गये. जहां एक नन्ही बच्ची की मुलाक़ात उसकी दादी से हो गयी. वह अपनी दादी को इस हालत में देखकर फूट फूटकर रोने लगी. इस दृश्य ने आसपास के सभी लोगों का ह्र्दय द्रवित कर दिया.

वृद्धाश्रम घूमने गई पोती की हुई उसकी दादी से मुलाकात, आगे जानकर शर्म से झुक जाएगा सिर

बच्ची के घर में पूछने पर माँ बाप यही कहते थे कि दादी किसी रिश्तेदार के यहाँ चली गयी हैं और अब वे वहीँ रहेंगी. लेकिन वृद्धाश्रम में अचानक अपनी दादी को देखकर उस बच्ची की जो हालत हुई, उसे समझ पाना भी मुश्किल.

वृद्धाश्रम घूमने गई पोती की हुई उसकी दादी से मुलाकात, आगे जानकर शर्म से झुक जाएगा सिर

शर्म आनी चाहिए ऐसे लोगों को जो अपने माँ बाप को भी बोझ समझते हैं. बच्चों की परवरिश ठीक तरह से करने के लिए दादा दादी और नाना नानी की ज़रुरत माँ बाप से कम नहीं होती. एक माँ अपने चार बच्चों को तो पाल पोसकर बड़ा कर सकती है लेकिन आज के समय में चार औलादें एक माँ बाप की देखभाल नहीं कर सकते. फिर जब कल को उनके बच्चे ऐसा करेंगे तो वे किसे दोष देंगे.

From Around the web