परंपरा के नाम पर शादी के बाद दुल्हन को उसका पति भेज देता हैं किसी दूसरे मर्द के पास

नई दिल्ली : आज दुनिया कहाँ से कहाँ पहुँच गई। लेकिन फिर भी भारत के लोग इस युग में भी ऐसी भद्दी परंपरा पर कई लोगो की बलि चढ़ाते हैं। दिल्ली के पास आई कई इलाकों में एक ऐसी जाती बसती है जहाँ उनके ही परिवार के लोग शादी के बाद घर की बहु को
 
परंपरा के नाम पर शादी के बाद दुल्हन को उसका पति भेज देता हैं किसी दूसरे मर्द के पास

नई दिल्ली : आज दुनिया कहाँ से कहाँ पहुँच गई। लेकिन फिर भी भारत के लोग इस युग में भी ऐसी भद्दी परंपरा पर कई लोगो की बलि चढ़ाते हैं। दिल्ली के पास आई कई इलाकों में एक ऐसी जाती बसती है जहाँ उनके ही परिवार के लोग शादी के बाद घर की बहु को कोढे पर धंधा करवाने के लिए बिठा देते हैं। एक रिपोर्ट से पता चला हैं की दिल्ली के धरमपुर सहित कई इलाकों में रह रहे ‘परना’ जातियों के लोग ऐसी गन्दी परंपरा पर विश्वास रखते हैं।

परंपरा के नाम पर शादी के बाद दुल्हन को उसका पति भेज देता हैं किसी दूसरे मर्द के पास

खुद पति ही मजबूर करता हैं पत्नी को

‘परना’ जाति के लोग कई साल पहले ‘बनजारे’ के जैसा जीवन बिताते थे। सबसे पहले इस परंपरा का भांडा ‘ रिसर्च साईट पैसिफिक स्टान्डर्ड’ नामक संस्था ने फोड़ा था। उस जाती का कहना हैं की हमारी जाती में औरत जात को कोई काम नहीं देता है उस कारन हमने यह रास्ता अपनाया हैं। उस औरतो के लिए दिल्ली की कई संस्थाएं भी सामने आई हैं।

परंपरा के नाम पर शादी के बाद दुल्हन को उसका पति भेज देता हैं किसी दूसरे मर्द के पास

इसी जाति की एक औरत की रिपोर्ट आई सामने

‘परना’ जाति में जन्मी और उसी जाती में शादी करने वाली रानी ने एक रिपोर्ट के दौरान कहा की वह रोज रात को दो बजे घर से निकलकर रेलवे स्टेशन और दूसरी कई जगहों पर प्रॉस्टिट्यूशन के लिए खड़ी रहती हैं। 17 साल की उम्र में रानी की शादी हुई थी। उसकी शादी के एक शाल बाद उसे यह परंपरा को मज़बूरी समझकर इस प्रॉस्टिट्यूशन के धंधे को अपनाना पड़ा था।

From Around the web