65000 रूपये महीने की तनख्वाह मिलती है इस महिला को सिर्फ सोफे पर बैठे-बैठे, वजह जानकर उड़ जायेंगे होश

65000 रूपये महीने की तनख्वाह: दुनिया भर में जॉब्स को लेकर के संघर्ष काफी ज्यादा बढ़ चुका है और इतना ज्यादा बढ़ चुका है कि एक जॉब के लिए सौ-सौ लोग आवेदन करने के लिए खड़े हो जाते है। लेकिन ऐसे में दुनिया में कुछ ऐसी अजीबो गरीब जॉब्स भी है। जिनके बारे में जानकर
 
65000 रूपये महीने की तनख्वाह मिलती है इस महिला को सिर्फ सोफे पर बैठे-बैठे, वजह जानकर उड़ जायेंगे होश

65000 रूपये महीने की तनख्वाह: दुनिया भर में जॉब्स को लेकर के संघर्ष काफी ज्यादा बढ़ चुका है और इतना ज्यादा बढ़ चुका है कि एक जॉब के लिए सौ-सौ लोग आवेदन करने के लिए खड़े हो जाते है। लेकिन ऐसे में दुनिया में कुछ ऐसी अजीबो गरीब जॉब्स भी है। जिनके बारे में जानकर के लोगों के होश ही उड़ जाते है, छोटे-मोटे लेकिन स्मार्ट वर्क के लिए एक मोटी तगड़ी सैलरी पाने वालो की इस दुनिया में कोई कमी नही है। और आज हम आपको उनमें से ही एक से मिलवाने जा रहे है।

इनका नाम है एनन चेरंदात्सेवा, जो रूस की रहने वाली है और एक राशियाँ फर्नीचीचर कम्पनी में सोफा टेस्टर का काम करती है। और इसी एक जॉब के लिए उन्हें पूरे 65 हजार रूपये प्रति माह की तनख्वाह भी दी जाती है, जो अपने आप में आश्चर्य की बात है।

अब से कुछ ही माह पहले रूस की एक फर्नीचर कम्पनी ने सोफा टेस्टर के लिए एड निकाला था। क्योंकि कम्पनी चाहती है कि वो किसी परखी इंसान को अपने सोफों की टेस्टिंग के लिए रखे ताकि मार्किट में जाने से पहले वो व्यक्ति सोफों की अच्छे से जांच कर सके। और उस पर बैठकर के हमें बता सके कि इस सोफे को और ज्यादा बेहतर बनाये जाने के लिए किस किस तरह के बदलावों को करने की जरूरत है? इसी काम के लिए एनन को बिना सोचे समझे इतनी बढ़िया सैलरी भी दी जा रही है। वो सिर्फ नए-नए सोफों पर बैठने का काम कर रही है।

65000 रूपये महीने की तनख्वाह मिलती है इस महिला को सिर्फ सोफे पर बैठे-बैठे, वजह जानकर उड़ जायेंगे होशदुनिया भर में इसी तरह की कई जॉब्स मौजूद है। जिन्हें देखकर के हमें लगता है कि क्या वाकई में ऐसी भी जॉब होती है? संघर्ष की ऐसी दुनिया में जहाँ लोगो को दिन भर में मेहनत करके पूरी सैलरी नसीब नहीं होती ,वही इसी दुनिया में एनन जैसे लोग भी मौजूद है।

From Around the web