महात्मा गाँधी के बारे में 10 अनसुनी दिलचस्प जानकारियां हैरान कर देगी आपको

महात्मा गाँधी ने अपने विचारों, संघर्ष और भारत के लोगों में अपने विश्वास से कई लाखों लोगों को प्रेरित किया। हम सभी को अपने दादा दादी, स्कूल की किताबों से महात्मा गाँधी के बारे में लगभग सभी कुछ पता है लेकिन फिर भी ऐसी कई छोटी छोटी बातें है। सरकारी नौकरियां यहाँ देख सकते हैं
 
महात्मा गाँधी के बारे में 10 अनसुनी दिलचस्प जानकारियां हैरान कर देगी आपको

महात्मा गाँधी ने अपने विचारों, संघर्ष और भारत के लोगों में अपने विश्वास से कई लाखों लोगों को प्रेरित किया। हम सभी को अपने दादा दादी, स्कूल की किताबों से महात्मा गाँधी के बारे में लगभग सभी कुछ पता है लेकिन फिर भी ऐसी कई छोटी छोटी बातें है।

सरकारी नौकरियां यहाँ देख सकते हैं :-

सरकारी नौकरी करने के लिए बंपर मौका 8वीं 10वीं 12वीं पास कर सकते हैं आवेदन

1000 से भी ज्यादा रेलवे की सभी नौकरियों की सही जानकारी पाने के लिए यहाँ क्लिक करें महात्मा गाँधी के बारे में 10 अनसुनी दिलचस्प जानकारियां हैरान कर देगी आपको

जो हमें नहीं पता और इन्ही बातों को आज हम आपके साथ बाँटेंगे:

यह रहीं महात्मा गाँधी के बारें में 10 अनसुनी दिलचस्प बातें:-

1. महात्मा गाँधी की अंतिम यात्रा 8 किलोमीटर लम्बी थी और यह उस शख्स के लिए थी जिसने देश के लिए अपनी पूरी ज़िन्दगी दे दी।

2. 1913 से 1938 तक अपनी मुहीम के लिए  गांधीजी रोज़ाना 8 किलोमटेर चलते थे और उन्होंने 80 हज़ार किलोमीटर का सफर तय किया है।

यह दूरी इक्वेटर पर दो बार चलकर दुनिया घूमने के बराबर है।

3. अपनी मृत्यु से एक दिन पहले महात्मा गाँधी कांग्रेस को छोड़ना चाहते थे।

4. महात्मा गाँधी का प्रभाव इतना ज़्यादा था की वह 4 महाद्वीप और 12 देशों में सिविल राइट्स मूवमेंट के लिए ज़िम्मेदार थे।

5. 1930 में टाइम्स मैगज़ीन ने महात्मा गाँधी को “मैन ऑफ़ द ईयर” कहा था।

वह सदी के टाइम मनुष्य के रनर अप भी थे।

6. गाँधी को करीब 14 बार अरेस्ट किया गया और उन्होंने जेल में 6 साल बिताये।

उन्हें अक्सर उनकी जेल की सजा से पहले छोड़ दिया जाता था।

अगर उन्हें अपनी पूरी सजा जेल में भुगतनी पड़ती तो उन्हें जेल में 11 साल तक रहना पड़ता।

महात्मा गाँधी के बारे में 10 अनसुनी दिलचस्प जानकारियां हैरान कर देगी आपको

7. महात्मा गाँधी को शांति के लिए 5 बारी नोबेल पुरुस्कार के लिए नामांकित किया गया लेकिन उन्हें यह सम्मान कभी मिला नहीं।

8. एक समय में उन्होंने लियो टॉलस्टॉय, हिटलर।

मोहम्मद अली जिनाह के साथ खतों की अदला बदली की थी।

9. महात्मा गाँधी के पहले बेटे हरिलाल गाँधी ने अपने पिता के खिलाफ आवाज़ उठायी थी।

1911में परिवार के साथ अपना सम्बन्ध तोड़ लिया था।

इसके बाद वह इस्लाम धर्म में तब्दील हो गया और उसने अपना नाम अब्दुल्लाह गाँधी रख लिया।

10.  वह नेहरू के स्वतंत्रता दिवस के भाषण पर मौजूद नहीं थे।

From Around the web