यहां पति के मरने पर पत्नी की नाती-पोतों से करा दी जाती है शादी, जाने क्यों

यहां पति के मरने पर पत्नी की नाती-पोतों से करा दी जाती है शादी: भारत में कई तरह की ऐसी प्रथाएं हैं जो कई बार बेहद ही अजीब भी हैं। भारत के कुछ गांव ऐसे हैं जहां अपने अलग ही रीति-रिवाज चलते हैं जो हमारे लिए बहुत अलग होते हैं। आज ऐसे ही एक गांव
 
यहां पति के मरने पर पत्नी की नाती-पोतों से करा दी जाती है शादी, जाने क्यों

यहां पति के मरने पर पत्नी की नाती-पोतों से करा दी जाती है शादी: भारत में कई तरह की ऐसी प्रथाएं हैं जो कई बार बेहद ही अजीब भी हैं। भारत के कुछ गांव ऐसे हैं जहां अपने अलग ही रीति-रिवाज चलते हैं जो हमारे लिए बहुत अलग होते हैं। आज ऐसे ही एक गांव के बारे में हम आपको बताने जा रहे हैं जहां एक अलग ही प्रथा चल रही है।

सरकारी नौकरियां यहाँ देख सकते हैं :-

सरकारी नौकरी करने के लिए बंपर मौका 8वीं 10वीं 12वीं पास कर सकते हैं आवेदन

1000 से भी ज्यादा रेलवे की सभी नौकरियों की सही जानकारी पाने के लिए यहाँ क्लिक करें 

विधवा नहीं होती औरतें

यह गाँव मध्य प्रदेश में ही है जहां कोई भी औरतें विधवा नहीं होती है। यहां विधवा होने की प्रथा ही नहीं है। मंडला जिले के इस गांव की कहानी कुछ ऐसी है जो दुनिया से बहुत अलग है। ये इस गांव में गोंड जनजाति है जहाँ कोई भी महिला विधवा नहीं होती है।

नाती पोतों से शादी

शादी के लिए यहां ये जरूरी नहीं कि महिला का देवर ही हो। घर में अगर शादी लायक नाती पोते भी हो तो उनसे भी महिला की शादी कर दी जाती है। अगर कोई पुरुष शादी के लिए उपलब्ध नहीं है तो दूसरी प्रक्रिया अपनाई जाती है। इसके अलावा अगर शादी न हो तो विधवा महिला के पति की दसवीं पर दूसरे घरों की महिलाएं चांदी की चूड़ी तोहफे में देती हैं जिसे पाटो कहा जाता है।

From Around the web