इस व्यक्ति से ज्यादा प्यार करती थी द्रोपदी, जानिए महाभारत की अनसुनी बातें

महाभारत दुनिया का सबसे अद्भुत एवं थोड़ा विचित्र ग्रंथ है जिसके सार को समझना हर किसी के बस की बात नहीं है। महाभारत की द्रोपदी का असली नाम कृष्णा था जो हवन कुंड से प्रकट हुई थी। ज्ञानी बताते है कि द्रोपदी के कारण ही महाभारत का युद्ध आरंभ हुआ था। द्रोपदी भले ही अपने
 
इस व्यक्ति से ज्यादा प्यार करती थी द्रोपदी, जानिए महाभारत की अनसुनी बातें

महाभारत दुनिया का सबसे अद्भुत एवं थोड़ा विचित्र ग्रंथ है जिसके सार को समझना हर किसी के बस की बात नहीं है। महाभारत की द्रोपदी का असली नाम कृष्णा था जो हवन कुंड से प्रकट हुई थी। ज्ञानी बताते है कि द्रोपदी के कारण ही महाभारत का युद्ध आरंभ हुआ था। द्रोपदी भले ही अपने पांच पतियों के साथ रहती थी परन्तु उसका प्यार सिर्फ एक व्यक्ति ही थे।

इस व्यक्ति से ज्यादा प्यार करती थी द्रोपदी, जानिए महाभारत की अनसुनी बातें

सरकारी नौकरियां यहाँ देख सकते हैं :-

सरकारी नौकरी करने के लिए बंपर मौका 8वीं 10वीं 12वीं पास कर सकते हैं आवेदन

1000 से भी ज्यादा रेलवे की सभी नौकरियों की सही जानकारी पाने के लिए यहाँ क्लिक करें 

द्रोपदी के स्वयंवर को जितने में अर्जुन सफल हो गए थे कहा जाता है कि विवाह से पूर्व द्रोपदी कर्ण को अपना वर बनाना चाहती थी लेकिन द्रोपदी का जन्म कुरु वंश के अंत के लिए ही हुआ था। यदि वह कर्ण से विवाह कर लेती हो महाभारत युद्ध कभी ना हो पाता।

यह बात महाभारत युद्ध से पहले की है जब श्री कृष्ण पांडवों सहित द्रोपदी की परीक्षा लेते है। इस परीक्षा में हर किसी को अपने मन में छिपे राज को कहना होता है जिसमें पांडव समेत द्रोपदी शामिल होती है। पांडवों ने एक एक करके अपने दिल के राज को बया कर दिया और जब द्रोपदी की बारी आयी तो उन्होंने अपने मन की व्यथा खोलते हुए कहा कि-

पांडवों के अलावा वह कर्ण को चाहती थी परन्तु पिता का सम्मान करने हेतु उन्होंने इस बात को अपने मन में दबा कर रखा था।

From Around the web