जानिए मुस्लिम लोग क्यों सूअर का नाम लेना से भी पाप समझते हैं

हमारा भारत देश एक धर्म निरपेक्ष देश है यहां पर कई धर्म के लोग एक साथ निवास करते हैं। लेकिन यह बात भी सच है कि हर धर्म की अपनी अलग मान्यता है, अपनी अलग संस्कृति और परंपराएं हैं। और आज हम आपसे एक ऐसी ही मान्यता और परंपरा के बारे में चर्चा करने वाले हैं।
 
जानिए मुस्लिम लोग क्यों सूअर का नाम लेना से भी पाप समझते हैं
हमारा भारत देश एक धर्म निरपेक्ष देश है यहां पर कई धर्म के लोग एक साथ निवास करते हैं। लेकिन यह बात भी सच है कि हर धर्म की अपनी अलग मान्यता है, अपनी अलग संस्कृति और परंपराएं हैं। और आज हम आपसे एक ऐसी ही मान्यता और परंपरा के बारे में चर्चा करने वाले हैं। दरअसल यहां पर आज हम आपसे मुस्लिम धर्म के बारे में चर्चा करने वाले हैं। यहां पर हम जानेंगे कि आखिर वह कौन सा कारण है जिस वजह से मुस्लिम धर्म के लोग सुअर से घृणा करते हैं।

जानिए मुस्लिम लोग क्यों सूअर का नाम लेना से भी पाप समझते हैं

व उन्हे अपने आस-पास भी नहीं भटकने देते। तो चलिए जानते है इस कारण के पीछे छुपे राज के बारे में….

दरअसल हर धर्म के अपने अलग ग्रंथ होते हैं जिनका वह पालन करते हैं। एक ऐसा ही ग्रंथ मुस्लिम धर्म का भी है जिसे कुरान कहा जाता है। कुरान में कई सारी बातों का उल्लेख है जिसे हर मुस्लिम व्यक्ति को मानना पड़ता है। इसी ग्रंथ में सुअर का मांस खाना भी हराम माना गया है। लेकिन आमतौर पर लोग इन ग्रंथो की बातों को अंधविश्वास समझकर टाल देते हैं।

जानिए मुस्लिम लोग क्यों सूअर का नाम लेना से भी पाप समझते हैं

बल्कि वास्तव में देखा जाए तो इन ग्रंथो को लिखने वाले लोग कोई मामूली लोग नहीं थे।

बल्कि यह तो जाने माने विशेषज्ञ थे।

Quiz & Earn Money  go this link :  http://quizoffers.online/

सुअर के बारे में अब तक हम सभी यही जानते हैं कि यह एक गंदा जानवर है जिसे सिर्फ गंदगी ही पसन्द होती है इतना ही नहीं यह अपना भोजन भी कीचड़ में खाना पसन्द करता है। यह एक ऐसा जानवर होता है जो अपने मल को भी खाना पसन्द करता है। यही वजह है कि सुअर के शरीर में काफी मात्रा में बैक्टीरिया एकत्रित हो जाता है। और एक वयस्क सुअर के शरीर में इतना बैक्टीरिया एकत्रित हो जाता है कि एक सांप का जहर भी उस पर कोई असर नहीं कर पाता।

जानकर हैरानी होगी कि सुअर दुनिया में एक लौता ऐसा जानवर है जिसे पसीना नहीं आता है।

दरअसल उसके शरीर में स्वेट ग्लांड्स नहीं होता इसलिए उसे पसीना नहीं आता। और यही वजह है कि उसके शरीर में बनने वाली टाॅक्सिन्स उसके मांस में इकट्ठा हो जाता है। सूअर के शरीर में कई तरह के बैक्टीरिया के साथ कीड़े भी पैदा हो जाते हैं।

जिनमें सबसे ज्यादा खतरनाक टेपवार्म कीड़ा होता है जो मानव के लिए घातक होता है।

रिसर्च के माध्यम से इस बात का पता चला कि टेपवार्म एक ऐसा कीड़ा है जिसके अंडे खून के द्वारा शरीर में कंही भी जा सकते हैं। अगर यह अंडे दिमाग में चले गए तो ब्रेन डैमेज जैसी घातक बीमारी भी हो सकती है। इसके अलावा इसके मांस को पचाने में लगभग 3 से 4 घंटे लगते हैं। और इसके शरीर में मौजूद टाॅक्सिंस मानव शरीर में पहुंचने के बाद कई सारी बीमारियां पैदा करता है, जिसमें हार्ट अटैक का खतरा बढ़ जाता है।

जो लोग सुअर खाना पसन्द करते हैं उन्हे लीवर से जुड़ी बीमारियां होने का खतरा बढ़ जाता है।

अगर लगातार इसका मांस खाया जाए तो इससे हार्ट अटैक का खतरा भी बढ़ जाता है।

और यही सब वजह है कि मुस्लिम धर्म में सुअर का मांस खाना हराम माना जाता है।

इतना ही नहीं बाइबिल में भी इसके मांस खाने को मना किया गया है।

4 आसान से सवालों के जवाब देकर जीतें 400 रुये– यहां क्लिक करें

जिओ Sale :-
Jio 2 Smartphone  मोबाइल को 499 रुपये में खरीदने के लिए यहाँ क्लिक करे
JIO Mini SmartWatch को 199 रुपये में खरीदने के लिए यहाँ क्लिक करे
JioFi M2 को 349 रुपये में खरीदने के लिए यहाँ क्लिक करे

Jio Fitness Tracker को 99 रुपये में खरीदने के लिए यहाँ क्लिक करे

100% Working !! एक ही रात में पिम्पल्स का हटाने का उपचार | Pimples se Kaise Chhutkara Paayen

सभी ख़बरें अपने मोबाइल में पढ़ने के लिए गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड करे sabkuchgyan एंड्राइड ऐप- Download Now

The post जानिए मुस्लिम लोग क्यों सूअर का नाम लेना से भी पाप समझते हैं appeared first on Sab Kuch Gyan.

From Around the web