प्राचीन भारतीय इतिहास के अनुसार इन महापुरुषों को मिला था अमर रहने का वरदान, आज भी है जिंदा

जैसा कि आप सभी जानते है की इस संसार में जिसका भी जन्म हुआ है उसकी मृत्यु होना तय है। चाहे भगवान श्री राम ही क्यों ना हो। जो जन्म लेता है जिन्हे अमरता का वरदान मिला है और वे आज भी जिंदा है। आइये तो जानते हैं इन महापुरुषों के बारे में राजा बलि
 
प्राचीन भारतीय इतिहास के अनुसार इन महापुरुषों को मिला था अमर रहने का वरदान, आज भी है जिंदा

जैसा कि आप सभी जानते है की इस संसार में जिसका भी जन्म हुआ है उसकी मृत्यु होना तय है। चाहे भगवान श्री राम ही क्यों ना हो। जो जन्म लेता है जिन्हे अमरता का वरदान मिला है और वे आज भी जिंदा है। आइये तो जानते हैं इन महापुरुषों के बारे में

राजा बलि

राजा बलि को महादानी भी कहा जाता हैं जब भगवान विष्णु वामन के अवतार में राजा बलि से तीन पग भूमि दान में मांगा तो दो पग में भगवान विष्णु ने पृथ्वी और देवलोक को नाप लिया लेकिन तीसरा पग रखने के लिए जब कुछ नहीं बचा तब बलि ने अपना सिर आगे कर दिया।

हनुमान

दोस्तों आप जानते ही है कि धर्म की रक्षा के लिए भगवान शिव ने अनेक अवतार लिए हैं उन्ही अवतारों में से एक अवतार हनुमान जी का भी है सीता माता ने उन्हें अशोक वाटिका में अमर होने का वरदान दिया था इसी कारण वे आज भी जिंदा है।

अश्वत्थामा

महाभारत काल का एक व्यक्ति जिसके बारे में यह माना जाता है कि वह आज भी जिंदा है। इस व्यक्ति का नाम है अश्वत्थामा। यह कौरव और पाण्डवों के गुरु द्रोणाचार्य का पुत्र था। भगवान कृष्ण ने अश्वत्थामा को श्राप दिया था कि वे अनंत काल तक इस पृथ्वी पर भटकते रहेंगे और उनके शरीर में ऐसे रोग होंगे जिनका कोई इलाज नहीं होगा। कहा जाता है कि वे आज भी इस पृथ्वी पर जिंदा है।

From Around the web